Directory of Best Hindi Blogs 12th edition released: हिंदी के सर्वश्रेष्ठ ब्लॉग्स की डायरेक्टरी का 12वां संस्करण प्रस्तुत

हिंदी के श्रेष्ठ ब्लॉगों (top Hindi blogs) की डायरेक्टरी का 12वां संस्करण 1 सितम्बर 2022 को जारी किया गया. इसमें करीब एक सौ ब्लॉग हैं. इन्हें ब्लॉग के URL के मुख्य भाग के अनुक्रम में लगाया गया है. 

आप में से जो लोग इस डायरेक्टरी के इतिहास को जानते हैं, उन्हें पता होगा कि शुरू में जो ब्लॉग इस डायरेक्टरी में सम्मिलित किये जाते थे, वो केवल व्यक्तिगत (personal) ब्लॉग होते थे, लेकिन जैसे-जैसे समय बदलता गया, ब्लॉगिंग का महत्व सोशल नेटवर्किंग और वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म्स में तेज़ी से बढ़ोतरी के चलते कम होता गया. अब पर्सनल ब्लॉगिंग कम हो चली है और वेब/ सोशल मीडिया में अन्य विधाएँ काफी हद तक इसका स्थान ले चुकी हैं. इस वजह से ब्लॉगिंग का चरित्र बहुत बहुत बदल गया है. 

इस दौरान हमने हिंदी ब्लॉगिंग में जो बड़े बदलाव देखे हैं, उनपर थोड़ी चर्चा कर लेते हैं. 

अब हिंदी में जो पर्सनल ब्लॉग ठीक से चल रहे हैं, वो अधिकतर उन लोगों के हैं जिन्हें लिखने-पढ़ने का शौक है. इनमें से अधिकतर अपने ब्लॉग को हॉबी या जुनून (passion) की तरह चलाते हैं और ब्लॉग से पैसे कमाना उनका उद्देश्य नहीं. कुछ ऐसे ब्लॉगर गूगल एडसेंस, एफिलिएशन आदि से कुछ धनार्जन कर लेते हैं लेकिन वो उनके लिए ब्लॉगिंग का प्राथमिक उद्देश्य नहीं होता. 

दूसरी ओर, पिछले कुछ वर्षों में व्यावसायिक ब्लॉग बने हैं, जिनमें से बहुतों की सामग्री (content) का स्तर बहुत खराब है लेकिन वो पैसे कमाने के हथकंडे बखूबी अपनाते हैं. लेकिन ऐसे व्यावसायिक भी ब्लॉग हैं जो अच्छा काम कर रहे हैं, विशेषकर स्वास्थ्य और वित्त के मामलों में. 

हिंदी के अधिकतर अ-व्यावसायिक ब्लॉग साहित्य और सामाजिक-राजनीतिक मामलों पर होते हैं. संस्कृति और यायावरी के मिले-जुले कुछ अच्छे ब्लॉग भी हैं. टेक्नोलॉजी के भी कुछ ब्लॉग दिख जाते हैं लेकिन उनका स्तर प्रायः बहुत नीचे का होता है. खान-पान, श्रृंगार, फोटोग्राफी और यात्रा जैसे विषय जो कि इंग्लिश ब्लॉगिंग में बहुत लोकप्रिय हैं और उनके ब्लॉगर इनसे अच्छा पैसा कमाते हैं, हिंदी में इनके ब्लॉग बहुत कम दिखते हैं.  

कुछ ऐसे अच्छे ब्लॉग भी हैं जो तकनीकी परिभाषा से तो ब्लॉग हैं, लेकिन खुद को ब्लॉग कहने के बदले वेब मैगज़ीन या वेबसाइट कहना पसंद करते हैं. इनमें से कुछ ब्लॉग की तरह क्रम से पोस्टिंग करते रहते हैं तो कुछ इन्हें संकलित करके मासिक संस्करण भी निकालते हैं. कुछ वेबसाइटें अपनी पोस्ट्स को कैटेगरीज़ में व्यवस्थित करती हैं, जैसे कि किसी भी वेबसाइट में होता है. साथ ही उनमें एक ब्लॉग सेक्शन भी होता है जहां वही पोस्टें या अन्य पोस्टें क्रम से लगी होती हैं. 

एक बड़ी केटेगरी है ऐसे ब्लॉगों की जो अखबारों या पत्रिकाओं के वेब वर्ज़न हैं. ये भी ब्लॉग की तरह संचालित होते हैं, लेकिन ब्लॉग नहीं कहलाते. 

 ब्लॉगिंग के बारे में, विशेषकर अंग्रेज़ी के आलावा अन्य भाषाओँ में ब्लॉगिंग के बारे में, यह बहुत लोगों को यह कहते सुना जाता है कि यह विधा अब ख़त्म हो गयी है. लेकिन ऐसा नहीं लगता. खुद को व्यक्त करने की इच्छा इंसान की मूलभूत इच्छाओं में से एक है, और जो लोग चलते-चलते कहने-सुनने से अधिक अच्छी तरह खुद को एक्सप्रेस करना चाहते हैं, उनके लिए ब्लॉग एक बेहतरीन माध्यम है. व्यावसायिक ब्लॉगिंग ने भी पार्ट-टाइम या फुल-टाइम आजीविका के माध्यम की तरह अपनी पहचान बना ली है. हालांकि इन ब्लॉग्स को हम इस डायरेक्टरी में शामिल नहीं करते लेकिन यूट्यूब, इंस्टाग्राम और टिक-टॉक जैसे प्लेटफॉर्म्स पर चैनल/ व्लॉग/ ब्लॉग बनाकर उनमें पोस्ट करते रहना भी ब्लॉगिंग ही है. 

इंस्टाग्राम/ टिक-टॉक और अन्य वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म पर हिंदी में जो कंटेंट दिखता है वो प्रायः बहुत निम्न स्तर का होता है, लेकिन हर युवा के हाथ में स्मार्टफोन आ जाने, फ्री एडिटिंग और अपलोडिंग की सुविधा होने से, विडियो बनाने के लिए भाषायी ज्ञान की बहुत ज़रूरत न होने की वजह से,और विडियो देखना टेक्स्ट पढ़ने की तुलना में सरल और मनोरंजक होने के कारण हिंदी में विडियो ब्लॉगिंग बहुत लोकप्रिय हो गयी है. लगता है कि कम पढ़े-लिखे हिंदी-भाषी युवाओं ने तो अब सामान्य ब्लॉग बनाना और देखना बंद कर दिया है. 

फिर से आ जाते हैं इस डायरेक्टरी के संकलन पर. 

इस बार से हमने दो परिवर्तन किये हैं. एक तो किसी भी ब्लॉगर के एक से अधिक ब्लॉग्स को सम्मिलित किया जा रहा है, बशर्ते वो हमारे पैमाने में खरा उतरते हों.  दूसरा ये कि व्यावसायिक ब्लॉगों को भी सम्मिलित किया जा रहा है. 

हमें बहुत से अच्छे व्यावसायिक ब्लॉग मिले जिनका स्तर बहुत उत्कृष्ट है लेकिन हम उन्हें इस डायरेक्टरी में सम्मिलित नहीं कर पा रहे हैं क्योंकि उन्होंने न तो पोस्टों में डेट-स्टैम्प लगा रखी है और न आर्काइव्ज/ साइट-मैप देखने का कोई तरीका रख छोड़ा है. ऐसे में हम ये पता नहीं लगा सकते कि ये पोस्टें कब पब्लिश की गयीं. चार व्यावसायिक ब्लॉग्स में तो हमने पाया कि सभी पोस्टें एक ही महीने में डाल दी गयी हैं - इसलिए  हम इन्हें डायरेक्टरी में सम्मिलित नहीं कर पाए. 

अब बात करते हैं उन ब्लॉग्स की जो डायरेक्टरी में हैं. 

हमें इस बात का अहसास है कि व्यक्तिगत ब्लॉगों में से बहुत से ऐसे हैं जिनमें लेखन ही सबकुछ है, और उन्होंने इसके डिज़ाइन, सज्जा आदि पर बिलकुल ध्यान नहीं दिया है. लेकिन इनमें से अधिकांश वो ब्लॉग हैं जो लम्बे समय से चलते आ रहे हैं और हिंदी के ब्लॉग-संसार की जान हैं. इन्हें धनोपार्जन या ट्रैफिक के मानदंडों से भी तोलेंगे तो ये सबसे खराब ब्लॉग लगेंगे. हमें लगता है कि ऐसे ब्लॉगों को भाषायी ब्लॉग डायरेक्टरीज़ में जगह मिलनी चाहिए चाहे उनका तकनीकी/ डिजाइनिंग का स्तर कम ही क्यों न हो. अब जब हमारा भी मुख्य उद्देश्य ब्लॉगिंग को बढ़ावा देना है, न कि पैसे लेकर ब्लॉगों को डायरेक्टरी में सम्मिलित करना या ट्रैफिक आदि के पैमाने पर ब्लॉगों को तोलना, तो हमारी ये ज़िम्मेदारी बन जाती है कि ऐसे ब्लॉगों को न छोड़ें. 

हर साल जब हम डायरेक्टरी के नए संस्करण को संजोते हैं तो इसदुखद सच से रूबरू होते हैं कि पिछले वर्षों के कई बहुत ऊँचे स्तर के कंटेंट संजोने वाले ब्लॉग बंद होते जा रहे हैं जो हिंदी ब्लॉग संसार की जान हुआ करते थे. 

ब्लॉगिंग से कुछ अन्य वेब सामग्रियां (वेबसाइट, पोर्टल, आदि) जुड़ जाती हैं. लेकिन वे ब्लॉग नहीं होतीं, इसलिए हम ऐसी वेबसाइटों आदि को इस डायरेक्टरी में नहीं जोड़ सकते. इनपर गौर फरमाएं: 

  • हिंदी ब्लॉगिंग में समूहकों (aggregators) का विशेष स्थान रहा है. ये वो ब्लॉग या वेबसाइट होती हैं जो अन्य ब्लॉगों की नयी पोस्टों को पाठकों के सामने प्रस्तुत करती हैं. ये काम फीड टेक्नोलॉजी से खुद-ब-खुद हो जाता है, लेकिन कुछ ब्लॉगर अपनी पसंद की पोस्ट चुनकर उन्हें सामने रखते हैं. 
  • कुछ वेबसाइट या ब्लॉग ऐसे होते हैं जो पत्रिकाओं की तरह संजोये जाते हैं. इन्हें वेब-मैगज़ीन कहना अधिक सही लगता है. 
  • समाचार पत्रों या पत्रिकाओं के वेब संस्करण तकनीकी दृष्टि से ब्लॉग की तरह होते हैं, लेकिन उनका चरित्र पत्र-पत्रिकाओं जैसा होता है. 

इन श्रेणिओं की वेबसाइट आदि में जो स्तरीय होते हैं, उन्हें  हम एक अन्य संकलन (Hindi web magazines and blog aggregators) में प्रस्तुत करते हैं. अगले कुछ दिनों में इसका अपडेट जारी कर देंगे. 

पिछले वर्ष डायरेक्टरी जारी करते समय हमने हिंदी ब्लॉग्स में पायी जाने वाली कमज़ोरियों की ओर ध्यान दिलाया था. अगर आप हिंदी ब्लॉगर हैं तो उसे ज़रूर देखना चाहेंगे. उसका लिंक है: Hindi Blogs: best and not so good 

और अंत में ये रहा डायरेक्टरी (Directory of Best Hindi Blogs) का लिंक: 

top Hindi blogs